Home » what is Apqp in hindi apqp meaning in quality

what is Apqp in hindi apqp meaning in quality

what is Apqp in hindi apqp meaning in quality

Introduction 

what is Apqp in hindi apqp meaning in quality :- Apqp  का पूरा नाम Advanced product quality planing है , ये  एक method है जिसको  हम किसी product को बनाने के लिए प्रयोग करते है , इसमे हम ये ensure करते है कि हम जो भी products बना रहे है वो customer needs को पूरा करता है या नहीं। what is Apqp in hindi apqp meaning in quality

Apqp Meaning in Quality ( what is Apqp in hindi apqp meaning in quality )

इसके अतिरिक्त Apqp ( Advanced Product Quality Planing ) एक तरह का living document है , जो कि हर तरह के system , organization में बनाया जाता है । 

APQP एक तरह का Development Proces है जहां पर हम सभी के मतों दुआरा Advance product quality planing करते है, apqp बनाते समय सभी एक दूसरे से अपने results को share करते है इसमे supplier और automotive company शामिल होती है। 

APQP बनाते समय इसमे 3 तरह के भाग पर सबसे पहले ध्यान दिया जाता है जो कि किसी product का development, Product Launch और Industrialization शामिल होता है , इसके अतिरिक्त किसी product के production मे आने से apqp के अंदर 22 मुख्य भागों को देखा जाता है, जैसे कि :- Design, Design testing, specification, production process how work, process capability, production capacity, product packaging, operater training, आदि 

APQP में मुख्यतः 5 भागों पर Focus किया जाता है जो कि निम्नलिखित है :-

  1. Plan और define program
  2. Product design और development मापकर्म
  3. Proces design and developments verification
  4. Product and process feedback
  5. Product Launch, assessments, and some action 

APQP Process के अंतर्गत किए जाने वाले Points 

  1. Customer needs को समझना 
  2. Feedback के माध्यम से corrective action लेना 
  3. Process क्षमता को देख कर designing करना 
  4. Product fail होने पर उसको Analyze  करना और failure causes निकालना 
  5. सही तरह से verification and validation करना 
  6. Customer दुआरा design का review लेना 
  7. सभी specification, डिजाइन पर controlling होना. 
  8. Apqp के अंदर हम सभी के साथ अच्छा communication रखते है , जिसके मदद से हम सभी process steps को बिल्कुल 100 % सही तरीके से पूरा करते हैं । 
  9. Apqp का प्रयोग हम High risk को find out करने के लिए भी करते है। 

Apqp History in hindi 

apqp यानी advanced product quality planning 1980s में America में developed किया गया था , इसका निर्माण automobile industry के लिए किया गया , उस समय apqp को developed 3 बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी Ford , GM और chrysler के experts द्वारा किया गया था। 

ये तीनो बड़ी कंपनी एक OEMs कंपनी है और automotive equipments manufacture करती है, apqp को American society for quality control दुआरा approved करके Quality requirements task forces को developed किया गया। 

Apqp का प्रमुख मुख्यतः ऑटोमोबाइल industry मे किया जाता है। 

Apqp (advanced product quality planing) को US automakers दुआरा प्रयोग किया गया है, और APQP को एक procedure, techniques के रूप मे मान कर IATF 16949 मे Register किया गया है, इसके अतिरिक्त Apqp को हम अन्य manufacturing process जो कि automotive नहीं है उनमें भी कर सकते हैं । 

Automotive industry action Group (AIAG) दुआरा Basic of process control को APQP manual के दुआरा समझाया गया है। 

APQP Document kaise बनाते है? how to make apqp document 

APQP (advance product quality planing) एक Continuous proces है जो की Plan, Do, check act पर कार्य करता है 

Plan

सबसे पहले Technology और Concepts को develop किया जाता है 

Do 

इसमे Product/process development और prototype verification किया जाता है। 

Check 

सभी Product process को Confirm किया जाता है और validation किया जाता है। 

Act 

Apqp मे continuous Improvement किया जाता है 

Apqp बनाते समय प्रयोग होने वाले APQP Inputs and Outputs 

Prepare for APQP 

  1. Team को गठित करना। 
  2. scope को define करना 
  3. सभी अलग – अलग department के Team को Communication Established करना 
  4. सभी को core Tools training देना 
  5. APQP मे Customer और suppliers को शामिल करना 
  6. Engineering Process मे implement करना 
  7. नए Product के लिए control plan तैयार करना 
  8. सभी requirements को पूरा करना 
  9. Product quality timing plan बनाना 

Apqp कैसे  बनाते है ? How to make apqp

Plan and define program 

Inputs

  1. Customer के मांग को समझना और सुनना 
  2. Business plan और marketing strategy को बनाना 
  3. Product, process का benchmark data तैयार करना
  4. Product Process assumption बनाना 
  5. Product Reliability का अध्यन करना 
  6. Customer inputs को देखना
  7. Product Design और deviation 

Outputs

  1. Design goals को बनाना। 
  2. Reliability और इसका quality goal 
  3. सभी मटेरियल का bill बनाना 
  4. process flow chart बनाना 
  5. सभी special dimensions and characteristics को दिखाना 
  6. product assurance plan तैयार करना 
  7. Management support देना जैसे : program, timing, और planning कोई भी अन्य support के लिए। 

Planning 

 Timing Plan को बनाना 

जैसे इस प्रकार हो सकते है :- 

  1. Type of the product
  2. Complexity  and
  3. Customer expectations

 Timing plan के अन्य भाग 

  1. Tasks
  2. Assignments
  3. other events
  4. Time frames
  5. Team members to agree on the elements

Objective 

  • Customer needs को Determine करना 
  • और Quality program को बनाना 

Inputs 

Voice of the customer 

  1. Market Research :- customer review को देखना, new product और उसके मजबूती को study करना, product quality को study करना और सभी का रिपोर्ट बनाना। 
  2. Historical Warranty and Quality Information :- इसके अंदर capability indicators, warranty reports, internal quality reports बनाना problem resolution reports, customer plant returns और field return product analysis करना। 
  3. Team Experience के द्वारा reports :- field रिपोर्ट्स देना, management comments और direction , problems और issues को report करना , government rules और regulations को follow करना। 
  4. Business plan :- cost investment , products positioning आदि को monitor करना। 
  5. Product /process benchmark data :- इसके अंदर हम
    1. suitable benchmark को identify करते है। 
    2. Comparison between old benchmark or new benchmark 
    3. new plan को developed करना
  6. Product /process assumptions 
  7. Product reliability studies :-  सभी changes को monitor करना और tests को कराना। 
  8. Management support :- सभी work को management द्वारा control करना और support करना। 

Outputs 

  1. Design Goals :- किसी भी product का design goal बना देने से customer satisfaction level increase हो जाता है। 
  2. Reliability और quality goals :- इसमें customer expectation और program objectives और reliability benchmarks को किया जाता है। 
  3. Preliminary bill of materials :- टीम के द्वारा bill materials बनाना अनिवार्य है। 
  4. Preliminary process flow chart :- 
  5. Preliminary for special product and process characteristics :-  क्या 

Other points coming soon………..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *