Home » what is accounting equation in hindi

what is accounting equation in hindi

what is accounting equation in hindi

Introduction 

what is accounting equation in hindi :- Accounting equation के अनुसार हर एक दशा में सम्पतियो की राशि पूँजी और दायित्व के बराबर होती है , इसके बारे में हम detailed में जानेगें , इससे क्या effects आते है इसके बारे में भी हम बतायेगें। 

  इसके अतिरिक्त आज हम जानेगें की accounting equation क्या होता है , accounting equation वयवसाय में लेन देन को सरल करने का एक मूल प्रलेख होता है , जिसको हम लेखांकन के मूल प्रलेख भी कह सकते है। 

what is accounting equation in hindi ( Meaning of Accounting Equation )

What is accounting equation in hindi 

Accounting equation एक तरह  नियम है जिसका अर्थ होता है की हर एक दशा में सम्पतियो की पूँजी राशि तथा दायित्व में बराबर होती है , हर एक लेन -लेन से वयवसाय की सम्पतियो , दायित्वों , और पूंजी में बदलाव होता रहता है , और बदलाव के बाद में वयवसाय की सम्पतियाँ , वयवसाय के दायित्वो तथा के बराबर ही रहती है।  यदि किसी लेन -लेन से सम्पतियो में वृद्धि होती रहती है , इससे उतनी ही राशि से या तो दायित्वों में वृद्धि होती है या फिर पूँजी वृद्धि होती है। 

जाने Accounting standards क्या है ? यहाँ click करे। 

Accounting Equations 

Accounting equation ( लेखांकन समीकरण ) को सही तरह से समझने के लिए हमको स्थिति विवरण ( Balance sheet ) को समझना होगा जो की बहुत जरुरी है , है, हम एक example के माध्यम से समझते है की balance sheet द्वारा कैसे accounting equation को समझ सकते है। what is accounting equation in hindi

 
 
 

Balance Sheet ( स्थिति विवरण ) 

Capital & liabilities
( पूंजी और दायित्व )
Assets
( सम्पतियाँ )
Capital
Liabilities :-
Creditors
Bank Overdraft
60,000
40,000
________
1,00,000
Cash & Bank
Debtors
Stock in Trade
Furniture
Machinery
Building
1,00,000



_______
1,00,000

इस example के माध्यम से हम समझ सकते है , की स्थिति विवरण के दाएं भाग में सम्पतियाँ लिखी जाती है और बांयें भाग में पूंजी दायित्व लिखा जाता है , स्थिति विवरण के दोनों साइड का जोड़ हमेशा बराबर होता है क्यूंकि वयवसाय को जितनी भी समापतियाँ होती है , वो सभी या तो स्वामी द्वारा वयवसाय में दी  गयी पूंजी से खरीदी गयी है या फिर अन्य विकल्पों द्वारा प्राप्त धनराशि से खरीदी गयी है , दिए गए स्थिति विवरण में वयवसाय के पास कुल 1,00,000 राशि की सम्पतिया है , और जिनमे से 60,000 धनराशि की सम्पतिया स्वामी द्वारा अन्य व्यवसाय को दी गयी पूंजी में से खरीदी गई है , और जिसमे से 40,000 की धनराशि वयवसाय को अन्य पक्ष्कारो से प्राप्त हुए है। 

इस स्थिति को हम निम्नलिखित तरीके से लेखांकन समीकरणों द्वारा प्रदर्शित कर सकते है :- 

 

लेखांकन समीकरण पर लेन -देनो का प्रभाव ( Effect of transactions on accounting equations )

accounting equation से लेखांकन लेन -देनो पर भी प्रभाव पड़ता है , इसके बारे में हम detail में जानेगें हमें comment करे यदि आप detail में जानना चाहते है। 

इस post what is accounting equation in hindi में हमने जाना की Accounting Equation क्या है , meaning of accounting equation , accounting equation example , सभी accounting equation topics को cover किया गया है , आप हमें comment के माध्यम से किसी भी तरह का question कर सकते है हम हमेशा आपके सवालो का जवाब देने के लिए उपस्थित है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *