Home » Retirement of a partner in hindi

Retirement of a partner in hindi

Retirement of a partner in hindi

साझेदार का अवकाश Retirement of a partner Meaning

Retirement of a partner in hindi :- साझेदार द्वारा फर्म को एक उचित नोटिस देकर अवकाश ग्रहण करने के अधिकार होता है। किसी नहीं पुराने साझेदार के अवकाश लेने पर पुरनी साझेदारी खत्म हो जाती है, लेकिन फर्म कार्य करती रहती है। जिससे की बचे हुए साझेदारो के बिच एक नयी साझेदारी की स्थापना हो जाती है। 

साझेदार के अवकाश लेने पर दिए जाने वाले अधिकार Retirement of a partner in hindi

  1. ख्याति में हिस्सा (Share in Goodwill) :- फर्म की ख्याति का जब valuation किया जाता है और अवकाश ग्रहण करने वाले साझेदार के हिस्से की ख्याति को उसके पूंजी खाते में credit कर दिया  है। 
  2. सम्पतियो और दायित्वों के revaluation में हिस्सा (share in revaluation of assests and liabilities) :- जब फर्म के अंदर अवकाश ग्रहण करने के तिथि पर सम्पतित्यो और दायित्वों का revaluation किया जाता है और इससे प्राप्त होने वाले लाभ को अवकाश ग्रहण करने वाले साझेदार के हिस्से को उसके पूंजी खाते में क्रेडिट कर दिया जाता और यदि कोई हानि होती है तो उस हानि को debit के तरह लिख दिया जाता है। अवकाश ग्रहण करने वाले साझेदार ज्ञात की गयी राशि का भुगतान तो परन्तु कर दिया जाता है या इसको उसके ऋण खाते में transfer करने के बाद भुगतान कर दिया जाता है। 
  3. संचयो में हिस्सा (Share in Reserves) :- फर्म के पिछले वर्ष के अवतारित लाभ संचय होते है और इन संचयो और अवतारित लाभों के अवकाश ग्रहण करने वाले साझेदार के हिस्से की भी उनके पूंजी खाते में credit कर दिया जाता है। 

साझेदार के अवकाश ग्रहण से सम्बंधित समस्याएँ 

किसी भी साझेदार के अवकाश ग्रहण करते समय लेखांकन सम्बन्धी निम्नलिखित problems उत्पन्न होती है :-

  1. ख्याति की फिर से entries करना। 
  2. बचे हुए साझेदारो के नए लाभ – विभाजन अनुपात और लाभ -हानि अनुपात को ज्ञात करना। 
  3. सम्पतियो और दायित्वों के revaluation के लिए लेखांकन व्यवहार। 
  4. अवकाश ग्रहण करने वाले साझेदार को भुगतान करना। 
  5. पूंजी खातों का लाभ – विभाजन अनुपात में समायोजन। 

Retirement of a partner in hindi

नए लाभ हानि अनुपात को ज्ञात करना (calculation of new profit sharing ratio)

जब कोई साझेदार आवक्ष ग्रहण करता है तो शेष साझेदारो के नए अनुपात के संबंध में कुछ भी उल्लेख नहीं किया गया है तो ऐसी condition में शेष साझेदार भविष्य में भी लाभ -हानि को अपने पुराने अनुपात में ही बाँटते रहेगें। 

ये भी पढ़े :-

  1.  Methods of valuation of goodwill in hindi 
  2. Goodwill क्या होता है ? 

Retirement of a partner in hindi

Conclusion 

इस post (Retirement of a partner in hindi) में हमने जाना की साझेदार का अवकाश क्या है ? और किसी साझेदार के अवकाश लेने पर फर्म पर क्या प्रभाव पड़ता है। साझेदार के अवकाश ग्रहण से सम्बंधित समस्याएँ, साझेदार के अवकाश लेने पर दिए जाने वाले अधिकार आदि आप हमको comment के माध्यम से भी अपने question को पूछ सकते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *