Home » journal entry rules in hindi

journal entry rules in hindi

journal entry rules in hindi

जर्नल में लेखा करने के नियम 

journal entry rules in hindi :- किसी भी तरह का लेखा करते समय कुछ नियमो का पालन किया जाता है, जिसका प्रयोग जर्नल एंट्री में  किया जाता है , हम दोहरा लेखा प्रणाली में जान चुके है की entry करते समय कौन -कौन से नियम पालन किये जाते है, journal entry rules में हम और अधिक rules को जानेगें।

जनरल एंट्री के नियम (journal entry rules in hindi)

journal entry rules in hindi

journal entry rules with examples

जर्नल एंट्री के नियम निम्नलिखित है :-

खाते के अनुसार नियम इस तरह से है –

  1. व्यक्तिगत खाते (personal accounts)
  2. वास्तविक खाते (Real accounts)
  3. नाममात्र के खाते (Nominal accounts)
  4. स्टॉक खाता (Stock A/c)

व्यक्तिगत खाते (personal accounts) entry के नियम 

journal entry rules in hindi

हम जानते है की Debit the receiver के नियम के अनुसार जिस किसी को हम कोई भी amount का माल देते है उस व्यक्ति के खाते को debit किया जाता है।

Example :- जैसे की रमेश को हमने ₹ 10,000 दिए, तो इस condition में हम निम्न entry करते है –

Ramesh                                                    Dr.          10,000

To cash A/c                                                                 10,000

(Cash paid to Ramesh)

और Credit the giver के नियम के according जिस किसी व्यक्ति में हमको कभी भी कोई ₹ प्राप्त  होता है तो उस व्यक्ति के खाते को हम credit करते है।

Example :- जैसे की राम के द्वारा हमें ₹ 40,000 प्राप्त हुए है , इस कारण हम इसकी निम्न  तरीके से entries करेगें –

Cash A/c                                                          Dr.     40,000

T o Ram                                                                              40,000

(Cash received from Ram)

वास्तविक खाते (Real accounts) entry के नियम 

इस  नियम में हम Debit what comes in and credit what goes out के नियम के अनुसार किसी भी तरह के amount और सम्पति या फिर goods प्राप्त होता है तो , इस तरह के खाते को हम debit करते है,  और जो भी संपत्ति या फिर धनराशि जाती है तो उस खाते को credit किया जाता है।

journal entry rules in hindi

Example :-

₹ 10,000 की एक मशीन खरीदी गयी तो इसकी entry इस तरह से की जाएगी।

Machinery A/c                                       Dr.        10,000

To cash A/c                                                            10,000

(Machinery purchased for cash)

नाममात्र के खाते (Nominal accounts) entry के नियम 

इस तरह के खाते में हम Debit all expenses के नियम का पालन करते है और इसमें हम सभी expenses और loss के खाते को debit करते है। journal entry rules in hindi

Example :- हमने ₹ 10,000 का वेतन दिया – जो हम इस तरह से entries करते है।

Salary A/c                                   Dr.    10,000

To cash A/c                                                    10,000

(Salary paid)

और हम credit the all incomes के नियम के अनुसार सभी आयो और लाभ के खाते को credit किया जाता है।

Example :- किसी के द्वारा हमको ₹ 12,000 कमीशन के प्राप्त हुए है, तो इस तरह से entry  की जाती है।

Cash A/c                                                          Dr. 12,000

To commission A/c                                                                        12,000

(Commission Received)

स्टॉक खाता (Stock A/c) entry के नियम 

इसमें  हम ये ज्ञात करते है की हमने जो भी लेन -देन किया है वो नकद की गयी है या फिर उधार किसी भी माल को क्रय करने या विक्रय करने से पहले ये सुनिश्चित करना बहुत आवश्यक  होता है।

journal entry rules in hindi

क्यूंकि हम entries इसी के अनुसार करते है।

इसके नियम निम्न्लिखित है –

  1. यदि किसी भी माल के क्रय और विक्रय के transaction में क्रेता और विक्रेता का name नहीं दिया हुआ है तो इस condition में इसको नकद लेन -देन माना जायेगा।  जैसे की Goods sold for ₹ 10,000.
  2. और यदि  माल के क्रय और विक्रय के लेन -देन में क्रेता और विक्रेता का name दिया हुआ है तो और नकद शब्द दिया गया है और इसको हम नकद लेन -देन मान सकते है। जैसे की Goods sold to Ramesh
  3. यदि हमें  माल के विक्रय और क्रय के लेन -देन में विक्रेता का नाम दिया हुआ है लेकिन यह हमें मालुम नहीं है की यह नकद लेन -देन है या फिर उधार तो इस तरह के लेन -देन को हम उधार लेन -देन मानते है जैसे की Goods  sold to Amit
  4. Expenses होने पर entry के नियम :- expenses होने पर यदि भुगतान पाने वाले और देने वाले का नाम दिया हुआ है तो भी हम नकद लेन -देन मानेगें।  जैसे – इसको हम निम्न तरीके से entry करते है। salary paid to Amit ₹ 5,000 तो इसको हम इस तरह से entry करते है।

Salary A/c                                                      Dr.        5,000

To Cash A/c                                                                            5,000

ये भी पढ़े :-

इस पोस्ट journal entry rules in hindi में हमने जाना की journal entry बनाने के कौन -कौन से नियम होते है और हम इसको कैसे बनाते है, क्या -क्या entries की जाती है सभी को हमने example के साथ समझाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *