goodwill kya hai in hindi

goodwill kya hai in hindi

goodwill kya hai in hindi :- goodwill किसी फर्म द्वारा प्राप्त की गयी प्रसिद्धि होती है जो की कंपनी के उधमी की कड़ी मेहनत और ईमानदारी के परिणामस्वरूप प्राप्त होती है। यदि किसी फर्म द्वारा अपने ग्राहकों को अच्छी सेवाएं प्रदान  करता है तो ऐसे ग्राहक संतुष्ट होते है और बार -बार आयेगें और इसके माद्यम से फर्म भविस्य में अधिक लाभ अर्जित करेगी। 

Goodwill Definitions in hindi Goodwill meaning in hindi

Goodwill Meaning in Hindi definition

Goodwill को हिंदी में ख्याति कहते है। ख्याति किसी फर्म organization, कंपनी की प्रशिद्धि का एक ऐसा मूलय है जिससे की वह उस व्य्वसाय में लगी हुई अन्य फर्मो द्वारा अर्जित किये गए सामान्य लाभ दर की अपेक्षा लाभ अर्जित करती है। 

ख्याति परिभाषा  Goodwil Definitions 

लार्ड लिंडले के अनुसार, ” ख्याति सम्बन्धो और प्रसिद्धि से होने वाला लाभ होता है। “

लार्ड एल्डन के अनुसार goodwill kya hai in hindi, ” ख्याति इस सम्भावना के अतिरिक्त और कुछ नहीं है की पुराने ग्राहक पुराने स्थान को ही चुनते है। “

पैगलर और स्पाइसर के अनुसार, ” ख्याति एक वह  तत्व है जो किसी व्यवसाय की प्रतिष्ठा, सम्बन्धो और उस व्यवसाय को प्राप्त अन्य लाभों के कारण उत्पन्न होती है, और जिसके कारण वह व्यवसाय एवं उस वयवसाय में लगी हुई सम्पतियो में विनियोजित पूंजी पर, सामान्य अपेक्षित लाभ से अधिक लाभ कमाता है। “

goodwill kya hai in hindi

ख्याति की विशेषताएं (Characteristics or features of Goodwill in hindi)

ख्याति की विशेषताएं निम्नलिखित है :-

  1. ख्याति एक अदृस्य और अमूर्त सम्पति है :- ख्याति (Goodwill) अदृस्य सम्पतियो जैसे की patents , trade mark, copy right, आदि होती है और ये कभी wear and tear (खराब) नहीं होती है। अतःइस पर अन्य स्थायी सम्पतियो की तरह ही हास नहीं लगाया जाता। 
  2. ये एक मूलयवान सम्पति होती है। 
  3. ये अधिक लाभ प्राप्त करने में सहायक होती है। 
  4. इसके मूल्य में उतार-चढ़ाव बदलाव आते रहते है :- जैसा की हम जानते है की  ख्याति में कोई हास नहीं लगता है लेकिन इसके मूल्य में निरंतर बदलाव आते रहते है।  और जिन वयवसाय में super -profit होते है वह ख्याति हमेशा अदृस्य (Blind) सम्पति के रूप में रहती है , और लेकिन लाभों में कमी के साथ ही इसके मुलाय में भी कमी होती जाती है।  
  5. ख्याति उसी समय मूलयवान होती है जब सभी व्यवसाय का विक्रय किया जाता है :- ख्याति को हम कभी भी अलग से नहीं बेच सकते है।  केवल इसक व्यवसाय के सम्पूर्ण विक्रय के साथ ही बेचा जा सकते है। इसका एक अपवाद ये है की ने साझेदार के प्रवेश के समय और पुराने साझेदार के अवकाश ग्रहण के समय।
  6. ख्याति का सही मूल्य को ज्ञात करना कठिन होता है :– ये इसलिए होता है क्यूंकि व्यवसाय की आंतरिक और बाहरी परिस्थियों में परिवर्तन होता रहता है और इसके साथ ही इसके मूल्य में भी परिवर्तन होता रहता है। 

ख्याति की प्रकृति (Nature of Goodwill in hindi)

ख्याति की प्रकृति के 2 नाम बताएं

ख्याति एक अमूर्त सम्पति है क्यूंकि इसका कोई भौतिक अस्तित्व नहीं होता और न ही इसको देख और छू सकते है। लेकिन यह एक कत्रिम सम्पति है ऐसा इसलिए है क्यूंकि सम्पतियो का कोई मूल्य  जबकि लाभ अर्जित करने वाली संस्थाओ में ख्याति का कुछ न कुछ मूल्य होता है। ख्याति का विक्रय में किया जा सकता ही यदि पुरे organization का विक्रय संभव  हो। 

ख्याति का वर्गीकरण (Classification of Goodwill in hindi)

ख्याति कितने प्रकार की होती है निम्नलिखित है :-

ख्याति को दो भागो में बांटा गया है :-

  1. क्रय की गयी ख्याति (Purchased Goodwill)
  2. स्वयं उत्पन की गयी goodwill (self -generated goodwill)

goodwill kya hai in hindi

goodwill kya hai in hindi

क्रय की गयी ख्याति (Purchased Goodwill) goodwill kya hai in hindi

क्रय की गयी goodwill वो ख्याति होती है जिसे भुगतान करके प्राप्त किया जाता है। उदहारण के लिए जब कोई व्यवसाय को खरीदा जाता है तो शुद्ध सम्पतियों से क्रय मूल्य के आधिक्य को क्रय की गयी ख्याति कहते है। 

क्रय की गयी ख्याति (Purchased Goodwill) की विशेषताएँ 

  1. ये किसी व्य्वसाय के खरीदने के समय उत्पन्न होती है। 
  2. इसका पुस्तकों में लेखा किया जाता है क्यूंकि इससे कंपनी को लाभ होता है। 
  3. इसको हम स्थिति विवरण में Asset के रूप में दिखाते है। goodwill kya hai in hindi
  4. और इसे इसके उपयोगी आर्थिक जीवन काल में अपलिखित (यानी हासित) किया जाता है। 

स्वयं उत्पन की गयी goodwill (self -generated goodwill) kya hai 

ये ख्याति एक चालू व्यसाय में उस समय व्यवसाय की अनेक विषेशताओं के कारण बनती है। 

स्वयं उत्पन की गयी goodwill (self -generated goodwill) की विशेषताएं 

  1. ये ख्याति वयवसाय के लम्बे समय के दौरान व्य्वसाय के अंदर हो बनते है। 
  2. इस ख्याति का सही मूल्य को ज्ञात नहीं किया जा सकता है ,  और इसका मूल्य मुलायकन करने वाले व्यक्ति के experience पर निर्भर करता है। goodwill kya hai in hindi
  3. लेखांकन प्रमाप 26 :- Intengible assets के अनुसार इसका लेखा पुस्तकों में नहीं किया जाता ऐसा इस कारण से नहीं किया जाता क्यूंकि इसके बदले मुद्रा में अथवा मुद्रा के बराबर कोई मूल्य नहीं चुकाया गया है। 

ख्याति की उत्पत्ति क्या है ? ख्याति के मूल्य को प्रभावित करने वाले घटक 

Origin of goodwill or factors affecting the value of goodwill

 ऊपर दिए गए विवरण के माध्यम से हम जान चुके है की की ख्याति (goodwill kya hai in hindi) क्या होता है। इससे हमें ये स्पस्ट हो जाता  है की किसी व्यवसाय की अधिक लाभ प्राप्त होने को ख्याति (goodwil) कहते है। 

और ये लाभ जिन कारणों से उत्पन होती है, उनको ही ख्याति को उतपन्न करने वाले घटक (factors) कहते है। जो की निम्नलिखित है :-

  1. व्य्वसाय का सुविधाजनक स्थान :- यदि कोई organization (व्यवसाय) सुविधाजनक या फिर किस प्रमुख केंद्र पर स्थित होती है तो इस स्थिति में ख्याति अधिक उत्पन्न होती है क्यूंकि वहाँ ग्राहक सुविधापूर्वक आ पायेगें। 
  2. प्रबंध की कुशलता :- यदि किसी business (व्यवसाय) का संचालन अनुभवी और योग्य प्रबन्ध्को के द्वारा होती है तो व्यवसाय को लाभ निरंतर प्राप्त होता रहता है। जिसके कारण ख्याति की मूल्य में बढ़ोतरी होती है। goodwill kya hai in hindi
  3. वस्तु की प्रकृति :- उधमी द्वारा किस तरह के वस्तु का व्यवसाय कर रहा ये बहुत ही जरुरी होता है। यदि कोई व्य्वसाय ऐसी वस्तु की किया जा रहा है जिसका उपयोग प्रतिदिन किया जाता है तो इस स्थिति में ख्याति के मूल्य में बढ़ोतरी होगी और उतार चढ़ाव भी काम होगा। 
  4. व्यवसाय की अवधि :- नए व्यवसाय  के तुलना में पुराने व्यवसाय की ख्याति का मूल्य अधिक होता है। क्यूंकि पुराने व्यवसाय पर ग्राहकों की संख्या नए व्यवसाय की तुलन में अधिक होंगें और ग्राहकों की संख्या अधिक होने होने के कारण लाभ होना निश्चित है। 
  5. लाइसेंस का होना :- किसी व्यवसाय के पास कोई आयात लाइसेंस है तो ऐसी स्थिति में इन फर्मो की ख्याति अधिक होगी क्यूंकि ऐसे लाइसेंस के बिना कोई नयी फर्मो के लिए ऐसे व्यवसाय में प्रवेश करना कठिन होगा। 
  6. एकाधिकार और अन्य अधिकार :- कोई व्यवसाय एकाधिकार होने के कारण ख्याति का बढ़ना निश्चित है। goodwill kya hai in hindi
  7. जोखिम की मात्रा :- किस व्यवसाय में यदि जोखिम काम है तो अधिक लाभ अर्जित होता है। 
  8. लाभों की प्रवृति :- यदि किसी व्यवसाय में पिछले 1 वर्षो से लाभ अधिक हो रहा है तो आगे भी लाभ होगा और इससे ख्याति में लाभ बढ़ेगा। 
  9. पूंजी की मात्रा :- यदि किसी तरह के दो व्यवसायो की लाभ दर एक समान है तोजिस व्यवसाय में कम मात्रा में पूंजी विनियोजित है उसकी ख्याति अधिक होगी क्यूंकि ऐसे व्यवसाय को विक्रय करते समय काफी संख्या में क्रेता उपलब्ध हो जायेगें। goodwill kya hai in hindi
  10. अन्य घटक समय के अनुसार भी हो सकते है। 

ये भी पढ़े :-

  1. trial balance क्या होता है ?
  2. तलपट को कैसे बनाया  जाता है ?
  3. cash book क्या  होता है ?
  4. cash book के क्या लाभ है ?

valuation of goodwill in hindi (ख्याति  का मुलायकन)

Need for the valuation of goodwill in hindi , साझेदारी में निन्मलिखित ख्याति के मुलायकन की आवयसकता होती है :-

  1. जब एक न्य साझेदार प्रवेश करता है। 
  2. जब कभी वर्तमान में साझेदारों के बिच लाभ -हानि के अनुपात में परिवर्तन होता है। 
  3. जब कोई साझेदार अवकाश ग्रहण करता है या फिर किसी कारणवश उसकी मित्यु हो जाती है। 
  4. जब organization को बेचा जाता है। 
  5. या फिर जब फर्म का किसी अन्य फर्म के साथ एकीकरण हो जाता है। 

इस पोस्ट goodwill kya hai in hindi में हमने goodwill में बारे में complete information दी है आप आसानी से समझ सकते है की goodwill kya hai in hindi और इसके कितने प्रकार होते है ? इसका valuation कब किया जाता है ये कैसे बनाया जाता है। कृप्या goodwill kya hai in hindi पढ़ने के बाद यदि आपका कोई भी सुझाव या फिर सवाल है तो आप हमको comment कर सकते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *