Cost of poor quality kya hai ? cost of quality

cost of poor quality kya hai

COPQ क्या है ?

ये  एक Excellent Continues Improvement management tool है , Cost Of Poor Quality kya hai का  प्रयोग हम सही तरीके से Problem को Identify करने और संभावनाएं निकालने के लिए करते है , Cost Of Poor Quality kya hai एक खराब Quality Cost  भी है , जो हमारे System में छुपी हुई  होती है , ये हमारे Products , या फिर Processes में  हो सकता है, जिसके अंदर किसी Product का Rework Cost भी होता है।Copq को Continuous improvement project बनाकर Quality Cost को कम कर सकते है। इसके अंदर हम 4 steps internal failure , external failure , Appraisal और Prevention को follow करते है। 

COPQ को सर्वप्रथम IBM Quality Expert H. James Harrington ने 1987 में अपनी book Poor Quality Costs में Introduced कराया जब से अब तक copq का प्रयोग काफी किया  रहा है। Copq द्वारा हमें Quality Cost की भी जानकारी होती है।

जाने 8 Discipline क्या है Detailed में यहां click करे। 

Cost of Poor Quality in manufacturing

Copq  तब किया जा सकता हम जब Organization के अंदर Money ज्यादा खर्च हो रहे हो  copq द्वारा हमें Quality cost के बारे में पता लगता है , जो की हमारा Waste होता है।

  1. ये waste खराब products हो सकते है या फिर किसी खराब products के ऊपर  Rework में किया गया खर्च हो सकता है।
  2. Organization अपना Market shares खो रही है। इसको रोकने के लिए हम Copg का प्रयोग कर सकते है।
  3. Organization द्वारा अपने Customer Loss को रोकने के लिए भी cost of poor quality का प्रयोग किया जा सकता है।
  4. क्या Company में ज्यादा Failure हो रहे है , इसको analyze करके खत्म किया जा सकता है।

Cost Of Quality क्या है ? cost of poor quality kya hai 

Cost of quality बनाये गए  product और service का  खर्च नहीं  है  जबकि ये एक Cost है जो की सही तरह से products और services न  देने के बाद आती है। या फिर Defects Cause Costs के साथ Preventing , Detecting , या  फिर  Dealing करना Cost of quality या  Quality Costs कहलाता है।

ऐसा तब आता है जब कोई products अपने Design Specifications के according नहीं बन पता है है , और उसमे Defects होते है , जो की उसके performance को down करती है इस performance को हम Quality Of Conformance कहते है , जिसका cost of poor quality kya hai में  होना ज़रूरी है।

Objectives 

  1. Identify major opportunities जिसके द्वारा हम Cost of poor quality को कम कर सकते है। और अपने organization में सभी activities पर apply कर सकते है।
  2. Quality problem के size को समझने और उसका क्या प्रभाव पड़ेगा ये जाने  के लिए।
  3. Opportunities को find करने के लिए ताकि customer Dissatisfaction को ख़त्म किया जा सके और sales revenues को बढ़ाया जा सके।
  4. Mean और Measuring Results को निकालने के बाद quality improvement activities को ठीक करने के लिए , और Required achievement को प्राप्त करने के लिए।
  5.  Organization Goals के According Quality Goals को प्राप्त करने के लिए।

Types Of Cost Of Poor Quality 

Types of cost of quality

  1. Internal COPQ
  2. External COPQ
  3. Prevention Costs
  4. Appraisal Costs

1. Internal COPQ

Internal Failure Costs 

ये वो cost होते  है जिसमे  Customer को delivery करने से पहले  Detect  की जाती है , इस तरह की कमी किसी Products का उसके Requirements  customer needs  में  न  होने के कारण आती है। 

Internal Failure Cost में दो तरह की कमी आ सकती है। 

  1. Customer Needs और Requirements को देने  में आने वाली कमी 
  2. Process सही न होने के  कारण आने वाली कमी 

1 . Customer Needs और Requirements को देने  में आने वाली कमी 

ये सब कारण हो सकते है Failure के 

  1. Rework.
  2. Lost और missing information .
  3. Failure Analysis .
  4. Scrap और Rework  ( Supplier End ).
  5. Scrap. 
  6. दोबारा से inspection करने में आने वाली लागत। 
  7. Process में बदलाव के कारण। 
  8. Hardware Software की Redesign करने से। 
  9. Internal Operations में किया जाना वाला Rework .

2. Process सही न होने के  कारण आने वाली कमी 

  1. Equipment का कोई Downtime न होने के कारण। 
  2. Product Characteristics में Variability के कारण। 
  3. Inventory में कमी के कारण। 
  4. Non – Value added activities करने से। 
  5. Process Characteristics में variation होने के कारण। 

2. External COPQ 

External Failure Costs 

Products customer तक Received होने के बाद आने वाली failure को External Failure Costs  कहते है। इसमें हम Sales Revenue में होने वाले lost को भी जोड़ते है। 

1 . Customer Needs और Requirements को देने  में आने वाली कमी 

  1.  Complaint Adjustment करन। 
  2. Warranty देने में लगने वाले charges .
  3. Customer द्वारा material  return करने से। 
  4. Poor Quality होने के कारण Customer द्वारा Debit करने के कारण। 
  5. कुछ operations पर Rework करने के कारण। 
  6. Operations के कारण  Revenue Loss होना। 

2. Lost Opportunities और Sales Revenue

  1. Failure को  Customer द्वारा Detect करने के कारण। 
  2. Quality सही न होने के कारण  customer खोने से। 
  3. Material की सही capacity  न दे पाने के कारण Customer lost होना। 
  4. Poor Quality होने के कारण costs में कमी होने से। 

3. Prevention Costs 

Prevention Costs वो cost है जिसमे  Defects को रोकने के लिए activities की जाती है , Quality cost को सही तरह लाने के लिए हमे जहां से Defect आ रहा है सबसे पहले वहीं पर Action लेना  चाहिए , ऐसा करने से बाद में Rework costs नहीं आता है। cost of poor quality kya hai 

Prevention Costs Examples 

  1. New Product का Review करना। 
  2. Quality की Planning करना। 
  3. Process Planning करना। 
  4. Process Control करना। 
  5. Quality Audits द्वारा।
  6. Supplier द्वारा अपने products का Quality Evaluation करना।
  7. सभी को Training देकर।  

4. Appraisal Costs 

Appraisal costs वो cost होते है जिसमे Quality Requirements को प्राप्त करने के लिए Degree of conformance activities को find करते है। 

इसके अंदर किसी भी तरह के defective parts  और products को जल्द से जल्द production process में ही Detect किया जाता है। इसको हम cost of poor quality kya hai में  Inspection Costs भी कहते है। 

Appraisal Costs Examples 

ये सभी Cost जब होते है जब products की quality poor होती है। और ये management द्वारा सही तरह से system को न बनाने के कारण आती है। 

  1. In-Process Inspection Reports और Test .
  2. Incoming Inspection Report और Test .
  3. Final Inspection Reports और Test .
  4. Document Review .
  5. Products की Quality Audits .
  6. Equipment की accuracy

Visible और hidden costs 

Visible 

  • Rework 
  • scrap 
  • Warranty costs 

Hidden Costs 

  • Lost goodwill और customers .
  • Re -Design और re inspection करने में लगने वाला cost .
  • Material की efficiency खत्म होना। 
  • Products को सही तरह रखने के लिए resources में लगाने वाला Cost .
  • ज्यादा inventory होने से। 
  • Customer की problem को solve करने में लगने वाली cost.

Important Points

  1.  सभी Organization के लिए  एक ही Definition होती है। 
  2. Failure Cost Elements हमारे Key Categories होते है।
  3. सभी steps data collect करने के बाद खत्म होते है।
  4. कुछ costs किसी और कारण से उत्पन होती है जो की cost of poor quality kya hai के अंदर ही आता है।
  5. कुछ costs Controversial होते है।  

cost of poor quality kya hai के अंदर हम

ISO 9004 -1 (1994 ) Quality Management And Quality System Elements Guidelines section 6 और Financial Consideration of Quality Systems को follow करते है। 

इसके अंदर हम कुछ Data Collection करते है , और Reporting करते है।  

  • Quality Costing approach 

Failure , Appraisal और prevention approach लिया जाता है। 

  • Process Cost approach 

Process द्वारा किस Product के Data को Collect किया जाता है और costs को conformity और Nonconformity में divided कर दिया जाता है। 

  • Quality Loss approach

cost of poor quality kya hai  में Hidden Costs में से Data को Collect किया जाता है। 

Improvement Effort के लाभ 

  1. Process Capability को बढ़ाता है। 
  2. Errors  को काम करता है , और costs को कभी Reduce करता है। 
  3. Customer तक Defected Products को जाने से रोकता है। 
  4. New Customers को लाता है। 

cost of poor quality kya hai को Optimum करना 

हम Copq को तो ही Increase कर सकते है जब हमारा  Total Quality Costs और  Quality Conformance 100 % हो 

optimum cost of poor quality

Determine Quality Costs Categories 

  • Process को Understand करना। 
  • Product को Understand  करना। 
  • Understand from where problem occur.
  • Determine Continuously what goes wrong.
  • Determine what costs takes each problem.

cost of poor quality kya hai को कैसे रोक सकते है ?

  1. Quality के सभी Measure costs को prepare करके। 
  2. Quality Costs की Categories define करके। 
  3. Measurement systems बनाकर जिसके द्वारा quality of costs की Categories को पहचाना जा सके। 
  4. सभी तरह के डाटा को collect करके 
  5. Data collect करने के बाद उस डाटा को Analyze करके। 
  6. सभी Departments में Responsible members बना कर , और उसके द्वारा quality cost data को collect करके। 
  7. Collected data को सही तरह Analyse करके और डाटा ऐसा ले जिसका कुछ meaning हो.
  8. ये analysis करे की कितने skilled knowledge employees की जरूरत है। 

Data Collection Approaches 

  1. Accounts को Established करे। 
  2. Accounts को Established करने में लगने वाले Ingredients को analysis करे। 
  3. Basic accounting और उसका documentation करे। 
  4. Estimates द्वारा भी हम Data collection करते है जैसे Temporary Records , Work Sampling , Allocation of total resources , Unit cost data , Market Research data .

Summarize Collected Data 

इसमें हम collected data को उसके efforts के अनुसार categorized  करते  है 

  1. Time के अनुसार। 
  2. Product , Process , Component , Defect type और defect pattern द्वारा। 
  3. Organizational Unit द्वारा। 
  4. cost of poor quality kya hai  अनुसार category में बाँट के। 

Reporting और Results 

  1. इसमें हम overall performance और reporting करते है , और organization management को share करते है। 
  2. हम इसमें ये भी Define करते है की Customer की perspective क्या है। 
  3. Internal Perspective  ( संभावनाएं ) क्या है। 
  4. और क्या हमें Continue Improvement करती रहनी चाहिए। 
  5. और हमारी Financial Perspective क्या -क्या है और हम Shareholders के बारे में  कितना सोच रहे है। 

Gaining Approval For Improvement Program 

  1. कोई भी action लेने से पहले उसकी cost को Establish करे। 
  2. Savings और Other Benefits का estimate करे। 
  3. Return और Investment को calculate करे। 
  4. Case history को देख कर organization को run करे। 
  5. Specific Improvement Projects को identify करे। 
  6. सभी major groups के quality costs को दिखाए। 
  7. Improvement Process का Purpose और structure दिखाए। 

continous quality imrovement

Management Is Responsible for Copq 

  1.  Management द्वारा ही decide किया जायेगा की goods और services को कैसे  manage करना है और उसमे Terms and conditions कैसे apply करना है। 
  2. Management द्वारा है किसी भी तरह के Products को बनाने के लिए Responsibilities दी जाएगी।
  3.  Management ही responsible होगा हर तरह के results और accountable के लिए।

Cost of poor quality examples

 Nasa Copq example 

1986 में Nasa ( National Aeronautics and Space Administration) द्वारा एक space shuttle भेजा गया था जो की उड़ान के कुछ समय बाद crash हो गया , इसमें Nasa ने अपने 7  senior astronomers scientist को खोया और इसमें 1 Billion costs से ज्यादा  का नुकसान हुआ। 

ऐसा Space shuttle में सही तरह से “O”  ring  fitment न होने के कारण  हुआ जिसकी cost केवल कुछ Dollars थी। 

Toyota copq example 

2009 में Toyota द्वारा अपनी 9 million cars को customer के pass से वापस मँगवाना पड़ा क्यूंकि उसमे floor mats और brakes में quality problem थी जिससे 2 लोगो की जान चली गयी और 32 people injured हुए। 

इसमें Toyota company का 5.5 Billion dollar का नुकसान हुआ। 

Cost of Quality और cost of poor quality के लाभ 

continuous improvement process को करके हम 100 % target को achieve कर सकते है और हमें ऐसा करने से Total Quality Costs में आने वाली defect में कमी आएगी और 100 % results मिलेगें।  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *